होकरा अनशन अफसरों के अनुभवहीनता का परिणाम

admin

पिथौरागढ़। होकरा में एक तरफ अनशनकारियों की संख्या 62 पहुंच गई है, दूसरी तरफ आज भाजपा नेता जगत मर्तोलिया जिला प्रशासन के खिलाफ भड़क गए। डीएम के नाम का पत्र एडीएम को सौंपते हुए आंदोलनकारियों से बातचीत करने की मांग की। उन्होंने कहा कि अधिकारी जिम्मेदारी से काम करते ही नहीं हैं। सरकार की छिछालेदरी करने में इनकी मुख्य भूमिका है।
गुरुवार को होकरा, खोयम, गौला के दर्जनों युवाओं के साथ भाजपा नेता मर्तोलिया डीएम कार्यालय पहुंचे। एडीएम से मिलकर उन्हे एक पत्र दिया। मर्तोलिया ने कहा कि 19 जून के ग्रामीणों का तथा 6 जून के उनके पत्र का संज्ञान लिया होता तो आज यह नौबत नहीं आती। जिले के अफसर अनुभवहीन  हैं। जानकारी देने के बाद भी अपनी मर्जी से जिले को हाक रहे हैं।
इन अफसरों के कारण जनता के हित के लिए समर्पित सरकार की छवि धूमिल हो रही है। 14 जुलाई को समाधान बैठक के लिए अगर अफसरों को होकरा भेजा होता तो आज यह मुसीबत खड़ी नहीं होती। अफसरों के सिर ठीकरा फोड़ते हुए उन्होंने कहा कि तत्काल प्रभाव से जिम्मेदार अफसरों को होकरा भेजा जाए। 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

हिमालयी राज्यों की कॉन्क्लेव से पहले सर्वदलीय बैठक बुलाएं सीएम

उत्तराखंड प्रदेश कांग्रेस कमेटी के वरिष्ठ उपाध्यक्ष सूर्यकांत धस्माना ने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से पत्र लिख कर मांग की है कि राज्य में आगामी हिमालयी राज्यों की प्रस्तावित कॉन्क्लेव से पहले राज्य के सभी राजनैतिक दलों की बैठक बुला […]
suryakant dhasmana m2