उत्तराखंड के इन धुर विरोधी विधायकों ने की नए साल पर सुलह

admin

उत्तराखंड के इन धुर विरोधी विधायकों ने किया नए साल पर सुलह का दावा

देहरादून। भाजपा विधायक देशराज कर्णवाल और पार्टी से निष्कासित विधायक कुंवर प्रणव चैंपियन ने आपसी विवाद अदालत से बाहर सुलझा लेने का दावा किया है। दोनों विधायकों ने यहां प्रेस कांफ्रेंस कर आपसी सुलह हो जाने की जानकारी दी। दोनों की आपसी सुलह को चैंपियन की भाजपा में फिर वापसी की दृष्टि से महत्वपूर्ण माना जा रहा है।
पार्टी के ही दूसरे विधायक के साथ विवाद के चलते भाजपा से निष्कासित खानपुर के विधयक कुंवर प्रणव चैंपियन और विधयक देशराज कर्णवाल के बीच साल के पहले दिन सुलह हो गई। राजधनी दून में दोनों ने संयुक्त पत्राकार वार्ता की। जिसमें दोनों ने एक-दूसरे को गले लगाकर सारे गिले शिकवे दूर किए।
इस दौरान दोनों ने कहा कि वह एक-दूसरे पर दर्ज कराए सभी मुकदमे वापस लेंगे। इसके बाद अब राजनीतिक गलियारों में ये चर्चा गरम है कि भाजपा से निष्कासित कुंवर प्रणव चैंपियन की पार्टी में वापसी हो सकती है। इसी विवाद के चलते चैंपियन की घर वापसी में कर्णवाल सबसे बड़ी बाध थे। मामला इतना बढ़ गया कि अदालत तक पहुंच गया था। दोनों विधयक एक दूसरे को फूटी आंख नहीं सुहाते थे। मीडिया में लगातार एक दूसरे कि खिलाफ चल रही बयानबाजी ने दोनों के बीच दूरी बना रखी थी।
पत्रकारों से वार्ता करते हुए दोनों विधायकों ने आपसी विवाद को दूर करने की बात कही। जिसके बाद पार्टी विधयक देशराज कर्णवाल और उनके बीच का विवाद भी अब खत्म होता दिख रहा है। बताया यह भी जा रहा है कि दोनों नेताओं के बीच पैच अप कराने में मुख्यमंत्री खेमा खासा जोर लगा रहा था। कर्णवाल को चैंपियन से रिश्ते सुधरने को कहा गया, ताकि उनकी पार्टी वापसी कराने में आसानी हो। इसलिए सबसे पहला काम दोनों विधायकों में पैच अप कराने का हुआ है और दूसरे चरण में चैंपियन भाजपा में वापसी कर सकते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

संयुक्त सचिव शिक्षा लेन-देन के वायरल वीडियो में पद से हटाए

संयुक्त सचिव शिक्षा लेन-देन के वायरल वीडियो में पद से हटाए देहरादून। निजी स्कूल को एनओसी के एवज में कथित लेनदेन से संबंधित ऑडियो क्लिप के वायरल होने के मामले में माध्यमिक विभाग के संयुक्त सचिव को हटाते हुए सचिवालय […]