कोरोना वायरस संक्रमण फैलने से रोकने को सभी जिलों में सतर्कता बरतनी जरूरी

admin
IMG 20200613 WA0048

नीरज उत्तराखंडी/उत्तरकाशी

मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने वीडियो कांफ्रेसिंग के माध्यम से प्रदेश के सभी जिलाधिकारियों व संबंधित अधिकारियों के साथ कोरोना वायरस कोविंड 19 के संक्रमण को रोकथाम एवं इसके बेहतर उपचार हेतु जनपदों में की गयी व्यवस्थाओं एवं कोविंड केयर सेंटरों हेतु की गयी तैयारियों आदि की समीक्षा की।

वीसी के दौरान मुख्यमंत्री ने सभी जिलाधिकारियों से कहा कि सभी अधिकारियों को अपने-अपने जनपदों में कोरोना वायरस संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए संवदेशीलता व सतर्कता के साथ कार्य करते हुए सोशल डिस्टेसिंग एवं फेस कवर जैसे महत्वपूर्ण बातों का कड़ाई से अनुपालन सुनिश्चित कराया जाये, ताकि यह संक्रमण किसी भी तरह से समाज में न फैल सके।

उन्होंने कहा कि बाहरी राज्यों से आ रहें प्रवासियों को किसी प्रकार की कोई असुविधा न हो,  इसके लिए उन्हें होम फैसिलिटी एवं संस्थागत क्वारंटीन सेंटरों में सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित कराया जाये। उन्होंने कहा कि होम एवं फैसिलिटी क्वारंटीन सेंटरों में रह रहे प्रवासियों की निगरानी सर्विलांस टीम एवं आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकत्री द्वारा करायी जाये। किसी भी व्यक्ति में किसी प्रकार के लक्षण पाये जाने पर उनका तत्काल स्वास्थ परीक्षण कराते हुए सैंपल लेना सुनिश्चित करें।

उन्होंने यह भी निर्देश दियें हैं कि जनपदों में जो भी कोविंड केयर सेंटर तैयार कियें गयें हैं उनमें सभी व्यवस्थायें सुनिश्चित करायें ताकि आवश्यकता पडने पर इसमें मरीजों का बेहतर से बेहतर उपचार कराया जा सकें। उन्होंने यह भी निर्देश दिये है कि कोविड 19 चिकित्सालय में सभी आवश्यक व्यवस्थायें दूरस्थ रखें, जिसमें आक्सीजन की सुविधाए वेंटीलेटर एवं आईसीयू बैंड सहित एंबुलेंस व्यवस्था भी उपलब्ध रहें।

उन्होंने यह भी निर्देश दियें हैं कि जिन क्षेत्रों में कोरोना संक्रमण के मामले ज्यादा प्रकाश में आ रहें हैं ऐसे क्षेत्रों को कंटेनमेंट जोन घोषित करते हुए उसमें अधिक से अधिक ट्रेसिंग की व्यवस्था की जाय तथा अधिक से अधिक लोंगो के सैंपल लेने के भी निर्देश दिये। ताकि यह संक्रमण किसी और अन्य में न फैल सके, इसमें सभी अधिकारी सर्तकता के साथ कार्य करें। उन्होंने यह भी कहा कि आरोग्य सेतु एप के माध्यम से जिन क्षेत्रों से जानकारी प्राप्त होती हैं तो ऐसे क्षेत्रों की ट्रेसिंग करते हुए उन क्षेत्रों में सैंपलिंग की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जाये।

जनपद उत्तरकाशी की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी डा. आशीष चौहान ने मुख्यमंत्री को अवगत कराया कि कोरोना वायरस संक्रमण के प्रभावी नियंत्रण की रोकथाम को लेकर ठोस कदम उठाये जा रहे हैं। जनपद से 1079 सैंपल भेजे गये हैं, जिसमें से 280 सैपलों की रिपोर्ट आनी बाकी हैं। जनपद में कोरोना पाजिटिव के 28 केस हैं, जिसमें 05 एक्टिव केस है एवं 23 मरीज पूर्व में ही ठीक होने पर उन्हें आइसोलेशन क्वारंटीन के लिए भेजा गया हैं। उन्होंने यह भी अवगत कराया कि जनपद में आए प्रवासी, जो होम एवं फैसिलिटी क्वारंटीन सेंटरों में रखे गये हैं, उनकी लगातार आशाएं आंगनबाड़़ी सविर्लॉस स्वास्थ टीम तथा प्रचार-प्रसार टीम द्वारा लगातार निगरानी कर रही है।

कोरोना वायरस संक्रमण के रोकथाम एवं नियंत्रण के लिए भारत सरकार एवं राज्य सरकार द्वारा जारी दिशा निर्देशों का कड़ाई से अनुपालन कराने के लिए जिला प्रशासन पुलिस व नगर पालिका की टीमों द्वारा निरन्तर निगरानी कर गाइडलाइन का अनुपालन करने के लिए लोगों को प्रेरित किया जा रहा हैं तथा नियमों का पालन न करने वालों के विरुद्ध आवश्यक कार्रवाई करते हुए दंड भी वसूला जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि सब्जी मण्डी व्यापारियों की रेपिड सेप्लिंग की जा रही है तथा जिला चिकित्सालय में 08 वेन्टीलेटर भी उपलब्ध है।

वीसी में अपर जिलाधिकारी तीर्थपाल सिंह, मुख्य चिकित्साधिकारी डा. डीपी जोशी, डिप्टी कलेक्टर, चतर सिंह चौहान, जिला विकास अधिकारी संजय सिंह, आपदा प्रबंधन अधिकारी देवेन्द्र पटवाल, प्रमुख अधीक्षक जिला चिकित्सालय ड. एसडी सकलानी, अपर मुख्य प्रमुख चिकित्साधिकारी डा. बीके विश्वास डा. बीएस रावत, सहित संबंधित अधिकारी मौजूद रहे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

उत्तरकाशी : क्वारंटीन नियमों के उल्लंघन में तीन लोगों पर होगा मुकदमा

नीरज उत्तराखंडी/उत्तरकाशी जिलाधिकारी डॉ. आशीष चौहान ने होम क्वॉरेंटाइन के अनुपालन की जांच हेतु औचक निरीक्षण किया। जिसमें तीन व्यक्ति क्वारंटाइन नियमों का उल्लंघन करते पाए गए। क्वारंटाइन का उल्लंघन करने वालों में राकेश तोमर निवासी उजेली, शंकर अवस्थी निवासी […]
PicsArt 06 14 11.06.51