पत्रकार सेमवाल की गिरफ्तारी पर बैकफुट पर सरकार

admin
13 08 2018 12loc r28 c 1.5 18311054 310 m

पत्रकार सेमवाल की गिरफ्तारी पर बैकफुट पर सरकार

पिछले दस दिनों से झूठे मुकदमें में जेल में बंद किए गए उत्तराखंड के पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल के मामले में सरकार बैकफुट पर आ गई है। सहसपुर के थानेदार पीडी भट्ट द्वारा जिस प्रकार झूठी धाराएं लगाकर पत्रकार सेमवाल को गिरफ्तार किया गया, उसके बाद उत्तराखंड के तमाम सामाजिक एवं पत्रकार संगठनों के हल्ला बोल कार्यक्रम के बाद आखिरकार मुख्यमंत्री कार्यालय ने सेमवाल की गिरफ्तारी का संज्ञान लिया है।
मुख्यमंत्री के वरिष्ठ निजी सचिव हेमचंद्र भट्ट ने देहरादून के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक को पत्र लिखकर शिव प्रसाद सेमवाल पर पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही के संदर्भ में जवाब मांगा है। इस पत्र में सबसे गंभीर बात मुख्यमंत्री कार्यालय के दबाव में दुर्भाग्यपूर्ण रूप से की गई कार्यवाही की जानकारी मुख्यमंत्री के संज्ञान में लाने की बात कही गई है।

cm office letter

 

इस पत्र में पुलिस कप्तान को तत्काल जवाब मांगा गया है कि किन परिस्थितियों में ऐसा कदम उठाया गया और जिन लोगों ने सेमवाल की गिरफ्तारी को लेकर ऐसा दबाव बनाया, के बारे में पृथक से गोपनीय आख्या मांगी गई है। इसके साथ-साथ इस पूरे प्रकरण में एक निष्पक्ष जांच का भी आदेश दिया गया है।
मुख्यमंत्री कार्यालय के इस आदेश के बाद तत्काल एक जांच बिठा दी गई है। डिप्टी एसपी मुख्यालय लोकजीत सिंह, सेमवाल की गिरफ्तारी की जांच करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

थानाध्यक्ष पीडी भट्ट के खिलाफ हल्लाबोल। बर्खास्तगी की मांग

थानाध्यक्ष पीडी भट्ट के खिलाफ हल्लाबोल। बर्खास्तगी की मांग रविवार 1 दिसंबर 2019 को मानवाधिकारों के लिए लड़ने वाले अधिवक्ता अमित तोमर के नेत्रृत्व में सेलाकुई चौक पर स्थानीय सामाजिक कार्यकर्ताओं द्वारा सहसपुर पुलिस के विरुद्ध प्रदर्शन किया गया और […]
IMG 20191201 WA0037