गुफा में रह रहे नेपाली युवकों के लिए देवदूत बनी पुलिस 

admin
PicsArt 04 07 08.08.16

लक्ष्मणझूला। एक गुफा में रह रहे नेपाली मजदूरों के लिए पुलिस उस समय देवदूत बन गई, जाओ पहले भर कर सामान लेकर पुलिस उनके डेरे पर पहुंची। यह देख नेपाली युवकों और महिलाओं व बच्चों की आंखों में चमक आ गई।

FB IMG 1586269683409

लॉकडाउन ड्यूटी के दौरान पौड़ी गढ़वाल जनपद के नीलकण्ठ चौकी इन्चार्ज एसआई रणवीर रमोला द्वारा गरीब, असहाय लोगों के लिए खाद्य सामग्री की व्यवस्था की गई तथा दो व्यक्ति जो खाने की तलाश में रास्ते में भटकते हुए मिले, उनसे पूछताछ की गई। तो पता चला कि दोनों मजदूरी करते हैं और फूल चट्टी के पास एक गुफा में रहते है। उनके पास आजकल खाने के लिए कुछ नहीं है। एसआई द्वारा उनके लिए खाद्य सामग्री की व्यवस्था की गई तथा दोनों के लिए लक्ष्मण झूला स्थित आश्रम में रहने की व्यवस्था की गई।

बेटे बनकर बुजुर्ग दंपति के घर पहुंचाया राशन

FB IMG 1586272161641

चमोली के गैरसैंण निवासी सुनिल ने फोन कर बताया कि वह दिल्ली में है और लॉकडाउन के कारण घर नहीं आ सकता है। गांव में उसके बुजुर्ग माता-पिता हैं, जो अपने लिये खाने का सामान लाने हेतु बाजार आने में असमर्थ हैं और मदद करने की अपील की।

थाना गैरसैंण में तैनात पुलिसकर्मियों ने बुजुर्ग दंपति के लिये राशन व अन्य आवश्यक सामग्री की व्यवस्था की। 2 किमी. पैदल चलकर पंचाली गांव पहुंचे और उन्हें सामग्री दी। साथ ही भविष्य में भी पूरी सहायता करने का आश्वासन दिया।

निश्चित तौर पर उत्तराखंड पुलिस के जवानों पर प्रत्येक उत्तराखंडवासी को गर्व है, जो कोरोना जैसी वैश्विक विपदा के समय अपने कर्तव्य पालन के साथ-साथ मानवता को भी उतना ही महत्व दे रहे हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

देहरादून के तीन होटलों को सरकार ने किया अधिग्रहीत

देहरादून। कोरोना संक्रमण को देखते हुए देहरादून के तीन होटलों को सरकार द्वारा अधिग्रहीत कर लिया गया है। इनमें होटल वाईसराय इन, स्काई स्कैपरस और दून कैसल शामिल हैं। उधर दून अस्पताल में भर्ती सात जमातियों की कोरोना रिपोर्ट नेगेटिव […]
2017 12 30