रामनगर में गरजे पत्रकार।  सेमवाल को शीघ्र रिहा करने की मांग

admin
IMG 20191210 WA0016

रामनगर में गरजे पत्रकार।  सेमवाल को शीघ्र रिहा करने की मांग

रामनगर। राज्य के वरिष्ठ पत्रकार और पर्वतजन न्यूज पोर्टल के संपादक शिव प्रसाद सेमवाल की गिरफ्तारी को लेकर रामनगर के पत्रकारों व सामाजिक कार्यकर्तााओं ने  जमकर विरोध प्रदर्शन किया।

इस दौरान तहसील परिसर में पत्रकारों ने महामहिम राज्यपाल महोदया, को संबोधित एक ज्ञापन उप जिलाधिकारी, रामनगर के माध्यम से भेजा गया। जिसे उपजिलाधिकारी की अनुपस्थिति में तहसीलदार रामनगर को दिया गया।

IMG 20191124 WA0006

ज्ञापन के माध्यम से पत्रकारों ने राज्यपाल से वरिष्ठ पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल के उत्पीडन रोकने उनको अविलंब रिहा करने व प्रेस की आजादी पर हमला करने के विरूद्व ठोस कानून बनाने की मांग की है।

इस दौरान पत्रकारों ने कहा कि राज्य के वरिष्ठ पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल को गलत और तथ्यहीन आधार पर मुकदमा दर्ज कर जेल भेज दिया गया है। देहरादून से प्रकाशित पर्वतजन पत्रिका और न्यूज पोर्टल के संपादक, जनसरोकारों की पत्रकारिता करने वाले और उत्तराखंड वैब मीडिया एसोसिएशन के प्रदेश अध्यक्ष शिव प्रसाद सेमवाल के ऊपर सोची- समझी साजिश के तहत रंगदारी जैसे झूठे और संगीन आरोप लगाए गए हैं। जिससे पूरी पत्रकार बिरादरी आहत है। जनहित के मुददे उठाने वाले पत्रकार का इस प्रकार उत्पीडन करना अन्यायपूर्ण है। यह जनपक्षीय पत्रकारिता के दमन का प्रयास है।

IMG 20191210 WA0012

गौरतलब है कि राजधानी देहरादून में विगत 22 नवंबर को पर्वतजन पत्रिका एवं न्यूज़ पोर्टल के संपादक को सहसपुर पुलिस द्वारा नाटकीय रूप से उन्हें घर से गिरफ्तार कर जेल भेजने पर पुलिस पर सवालिया निशान उठ रहे हैं l जिसमें राज्यभर के पत्रकारों ने निष्पक्ष जांच की मांग की है। आरोप है कि पुलिस द्वारा नाटकीय रूप से गिरफ्तार करने के लिए उनके घर से सुबह 11:30 बजे उठाया गया और शाम को सहसपुर थाने में उनकी गिरफ््तारी दर्ज दिखाई गईl जिसमें पुलिस ने कहा कि पर्वतजन के संपादक खुद थाने सहसपुर में चलकर आए थे और पूछताछ के दौरान उन्हें गिरफ्तार किया गयाl इस पर कई तरह के पुलिस की कार्रवाई पर सवाल उठ रहे हैं जो अनैतिक रूप से पुलिस की कार्रवाई एवं सरकार की मंशा पर सवाल इस षड्यंत्र के घेरे में हैंl

आज रामनगर में पत्रकारों ने ज्ञापन के माध्यम से राज्यपाल से मांग की है कि इस मामले का संज्ञान लेकर पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल को न्याय दिलाने के लिए राज्य सरकार को र्निदेशित कर समुचित प्र्रयास किए जाएं। इसके साथ ही मांग की गई कि पत्रकारों से जुडे मामले के लिए एक स्वतंत्र जांच कमेटी बनाई जाए।

ज्ञापन देने वालों में राज्य आंदोलनकारी, वरिष्ठ पत्रकार, एड़वोकेट प्रभात ध्यानी, अनिल अग्रवाल खुलासा, इंद्र सिंह मनराल, संजय मैहता, गोपाल असनोडा, एडवोकेट मयंक मैनाली, गोपाल सिंह बिष्ट, पीसी जोशी, सैयद असिफ अली, अजीम खान, कैलाश सुयाल, नितेश जोशी, अमित बेलवाल, कुलदीप अग्रवाल, एडवोकेट मदन मोहन गौनियाल, एडवोकेट राजेश शर्मा, ललित उप्रेती, गोविन्द पाटनी, मोहम्मद उस्मान आदि सम्मिलित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ब्रेकिंग: प्रख्यात छायाकार पद्मश्री अनूप साह व उनकी पत्नी सड़क दुर्घटना में जख्मी

प्रख्यात छायाकार पद्मश्री अनूप साह व उनकी पत्नी सड़क दुर्घटना में जख्मी प्रख्यात छायाकार और प्रकृति मित्र पद्मश्री अनूप साह एक सड़क दुर्घटना में घायल होने के बाद आज प्रातः सपत्नीक दिल्ली के कैलाश अस्पताल में भर्ती कराये गये हैं। […]
FB IMG 1576048425343