गुड न्यूज Uttarakhand : 77 बार रक्तदान कर बचाई दूसरों की जिंदगी। दंपत्ति ने लिया देहदान व नेत्रदान का संकल्प। पढि़ए कौन हैं ये फरिश्ते… #mukhyadhara

admin 1
blood donar

जगदीश ग्रामीण/देहरादून

जरा सोचिए किसी व्यक्ति को आपात स्थिति में हॉस्पिटल में भर्ती कराया जाता है। डॉक्टर कहते हैं कि मरीज को खून की जरूरत है। अगर समय पर ला पाए तो इनकी जान बचाई जा सकती है, वरना…!

‘वरना’ शब्द सुनते ही तीमारदारों के पैरों के नीचे से उस वक्त जमीन खिसक जाती है। यह बात तब और भी असंभव हो जाती है, जब वहां मौजूद लोगों में से मरीज के ब्लड ग्रुप मैच नहीं करते। हमें ब्लड बैंक की याद आती है। साथ ही ऐसे लोगों को याद करते हुए दिमाग पर जोर डालना पड़ता है कि शायद भगवान बनकर उनकी कोई मदद कर जाए। ठीक उसी वक्त ब्लड डोनर उन्हें खून देकर मरीज की जान बचाने में किसी फरिश्ते से कम नहीं होते। यहां ऐसे ही कुछ फरिश्तों की बात हो रही है, जिन्होंने अपना जीवन दूसरों के लिए सेवा करने का मिशन बना लिया है। यही नहीं जीवन के बाद अपना देहदान और नेत्रदान तक करने का संकल्प लिया है। आइए आपको भी ऐसे ही कुछ लोगों से रूबरू करवाते हैं।

यूं तो व्यवसाय के साथ समाज सेवा संभव नहीं है, किंतु इरादे नेक हों तो फिर कोई भी चीज असंभव नहीं होती। समाज के लिए जीने वाले ऐसे ही कुछ लोग बेहतरीन काम कर रहे हैं। जो न केवल समाज सेवा, बल्कि इंसानियत की भी मिसाल बन गए हैं। ये समाजसेवी जीविकोपार्जन के लिए व्यवसाय करते हैं, लेकिन समाज के लिए जीते हैं, समाज के लिए सोचते हैं, समाज के लिए अपना रक्तदान करते हैं। यही नहीं देहदान और नेत्रदान का संकल्प भी लिया है।

IMG 20210223 WA0027

पूर्व पार्षद रवि जैन ने बनाया 77 बार रक्तदान का रिकार्ड
ऋषिकेश निवासी रवि कुमार जैन नगर पालिका ऋषिकेश से पार्षद रहे हैं। राजनीति के साथ-साथ समाज सेवा के कार्यों में भी बढ़-चढ़कर आगे रहते हैं। श्री जैन का अपना व्यवसाय है। आज जब समाज में ऐसी धारणा है कि व्यवसाय करने वाला वर्ग अपने आर्थिक हितों के लिए ही सोचता है, वह समाज के लिए समय नहीं दे पाता है, चिंतन नहीं कर पाता है। ऐसे में रवि कुमार जैन इस बात को झूठा साबित कर देते हैं। रवि कुमार जैन अब तक 77 बार रक्तदान कर चुके हैं। इतने अधिक बार रक्तदान करना शायद ही कोई बिरला हो।

श्री जैन कहते हैं कि हमारे शरीर में यह जो रक्त बनता है, यह प्राकृतिक है, ईश्वरीय देन है। हम किसी को क्या दे सकते हैं। यदि हमारे शरीर के रक्त से किसी का जीवन बच जाता है तो हमारे लिए इससे अधिक खुशी की बात और क्या हो सकती है।

20210224 120132

व्यापार मंडल रानीपोखरी के अध्यक्ष अरुण शर्मा ने किया 40 बार रक्तदान
रानीपोखरी निवासी अरुण शर्मा व्यापार मंडल रानीपोखरी के वर्तमान में अध्यक्ष हैं। उन्होंने 25 साल तक आंचल डेरी श्रीनगर में इंजीनियरिंग इंचार्ज के रूप में कार्य किया है और स्वैच्छिक सेवानिवृत्ति के बाद अब वर्तमान में रानी पोखरी में अपना व्यवसाय करते हैं। श्री शर्मा अब तक 40 बार रक्तदान कर चुके हैं।

पति-पत्नी ने लिया देहदान व नेत्रदान का संकल्प
अरुण शर्मा और उनकी पत्नी सुनीता शर्मा नेत्रदान और देहदान का संकल्प भी ले चुके हैं। ऐसे विरले ही दंपति होंगे, जिन्होंने देहदान का संकल्प लिया है। विशेषकर अपने पहाड़ी क्षेत्रों में।

शर्मा दंपत्ति मानते हैैं कि अपने लिए जीने वाले तो पशु समान हैं। यदि इस अनमोल जीवन को दूसरे के लिए जिएं तो सच्चे मायने में वही जीवन है, वही मानवता है और यूं कहें कि सृष्टि में जन्म लेने का सच्चा मकसद भी यही है तो गलत नहीं होगा।

20210224 120114

संजीव कुमार तिवारी 15 बार कर चुके हैं ब्लड डोनेट
संजीव कुमार तिवारी सारंगधर वाला भोगपुर के मूल निवासी हैं। श्री तिवारी भी व्यवसायी हैं। वर्तमान में वह दिल्ली में अपना व्यवसाय कर रहे हैं। वे अब तक 15 बार रक्तदान कर चुके हैं। इसके साथ ही आप भी नेत्रदान और देहदान का संकल्प लेने के इच्छुक हैं। श्री तिवारी दिल्ली में रहते हैं, लेकिन अपने आसपास के यहां के मित्रों, संबंधियों को भी रक्तदान के लिए प्रेरित करते रहते हैं।

इसके अलावा भी हमारे आस-पास कई ऐसे लोग हैं जो वक्त-जरूरत पर रक्तदान कर दूसरों की जिंदगी बचाते हैं। वे दूसरों के लिए जीते हैं, दूसरों के लिए जान जोखिम में डालने में भी नहीं हिचकते। ऐसे लोग समाज के लिए प्रेरणास्रोत होते हैं। ऐसे प्रेरणा के स्रोत समाजसेवियों को मुख्यधारा टीम की ओर से नमन, वंदन और अभिनंदन।

यदि आपके पास भी समाज को प्रेरणा देने वाली इस तरह की कोई न्यूज हो तो आप मुख्यधारा के व्हाट्सएप नंबर 94583 88052 पर सेंड कर सकते हैं। मुख्यधारा की खबरों के लिए पेज को लाइक व फॉलों करें और व्हाट्एप ग्रुप पर भी ज्वाइन कर सकते हैं।

One thought on “गुड न्यूज Uttarakhand : 77 बार रक्तदान कर बचाई दूसरों की जिंदगी। दंपत्ति ने लिया देहदान व नेत्रदान का संकल्प। पढि़ए कौन हैं ये फरिश्ते… #mukhyadhara

  1. Jeena uska jeena hai jo auron ko jeevan deta hai hamare jamane ka gana suchh sabit kar diya enhi logon ne .hamari hazaron duwayen aur salam aise logon ko

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

चिरबटिया नेचर फेस्टिवल में दिखेगी पहाड़ की विरासत। प्रदेश की सांस्कृतिक जड़ें होंगी मजबूत

जिलाधिकारी ने लांच किया चिरबटिया नेचर फेस्टिवल का पोस्टर सत्यपाल नेगी/रुद्रप्रयाग  आगामी 12 से 14 मार्च 2021 तक आयोजित चिरबटिया नेचर फेस्टिवल के पोस्टर का आज जिलाधिकारी रुद्रप्रयाग ने जिला कार्यालय कक्ष में विमोचन किया। विमोचन के अवसर पर प्रभागीय […]
IMG 20210224 WA0009