प्रदेश के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को ध्यान में रख बनाया गया राज्य के समग्र विकास का बजट : महाराज

admin
IMG 20210305 WA0003

गैरसैंण। ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण (भराड़ीसैंण) की घोषणा के एक वर्ष पूर्ण होने पर भराड़ीसैंण विधानसभा परिसर में सांस्कृतिक संध्या व दीपोत्सव के के अवसर पर प्रदेशवासियों को शुभकामनाएं देते हुए पर्यटन, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने सदन में पेश बजट पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि यह प्रदेश के अंतिम छोर पर बैठे व्यक्ति को ध्यान में रखते हुए बनाया गया राज्य के समग्र विकास का बजट है।
प्रदेश के पर्यटन, सिंचाई एवं संस्कृति मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि आज भराड़ीसैंण विधानसभा भवन में दीपोत्सव मनाया गया। आज ही के दिन यहां ग्रीष्मकालीन राजधानी की घोषणा हुई थी। उसी के उपलक्ष्य में दीपोत्सव का मनाते हुए कुंभ पर आधारित मंगल गीत गाए गए। महाराज ने कहा कि आज ही के दिन विक्टोरिया क्रॉस दरबान सिंह जी का भी जन्म हुआ था। उनका जन्मोत्सव मनाने के साथ साथ आज सरकार ने गैरसैंण को तीसरी कमिश्नरी घोषित कर बड़ा ऐतिहासिक काम किया है।

20210305 102733

प्रदेश की जनता को बधाई देते हुए काबीना मंत्री सतपाल महाराज ने कहा कि यह प्रदेश वासियों के लिए खुशी की बात है कि प्रदेश सरकार ने एक और जहां कोविड की चुनौतियों से लड़ते हुए लोकलुभावन बजट पेश कर प्रदेशवासियों को राहत पहुंचाने का काम किया है तो वहीं दूसरी ओर वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए 57400 करोड़ का बजट प्रस्तुत करते हुए सभी विभागों के साथ साथ सिंचाई योजनाओं के लिए बजट में 1155 करोड़ का प्रावधान किया गया है, जबकि प्रदेश में पर्यटन को साकार करने के लिए 236 करोड़ की व्यवस्था की गई है।
महाराज ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री त्रिवेन्द्र सिंह रावत ने सभी के हितों को ध्यान में रखते हुए पंडित दीनदयाल उपाध्याय की संकल्पना को साकार करने के साथ-साथ अंतिम पायदान पर सुदूरवर्ती क्षेत्र में बैठे व्यक्ति तक विकास की किरण पहुंचाने के दृष्टिगत एक सकारात्मक बजट प्रदेश को दिया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

जैविक खेती से संवरेगी ग्रामीणों की आर्थिकी। उद्यान विभाग व सहयोगी संस्था सुविधा दे रही प्रशिक्षण

जैविक खाद से मिट्टी की उर्वरा शक्ति व उत्पादकता वृद्धि की दे रहे हैं जानकारी। गांवों में बने किसान क्लस्टरों को दिया जा रहा प्रशिक्षण नीरज उत्तराखंडी/पुरोला पुरोला के दर्जनों गांवों में परम्परागत कृषि विकास योजना के अंर्तगत बने किसान क्लस्टरों […]
20210305 104552