ब्रेकिंग: सहसपुर एसओ पीडी भट्ट पर गिरी गाज, लाइन हाजिर। दो सस्पेंड

admin
20191130 215802

ब्रेकिंग: पत्रकार सेमवाल को फर्जी मुकदमें में फंसाने वाले सहसपुर एसओ पीडी भट्ट व विवेचक लाइन हाजिर, दो सस्पेंड

सहसपुर थाने में पुलिस हिरासत में हुई मौत मामले में थानेदार पीडी भट्ट को लाइन हाजिर कर दिया गया है, जबकि दो पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार शनिवार को थानाध्यक्ष सहसपुर द्वारा अपनी रिपोर्ट के माध्यम से अवगत कराया गया कि 29-11-2019 को वादी निवासी 177 विष्णु कालोनी, निकट विवेकानंद विद्या मंदिर, टनकपुर चम्पावत द्वारा थाना सहसपुर पर लिखित सूचना दी कि उनकी पुत्री उम्र 17 वर्ष सहसपुर में एक प्राइवेट कालेज में अध्ययनरत है। कुछ समय पूर्व उसकी मुलाकात अभिनव कुमार यादव पुत्र लालजी यादव निवासी चौबे छपरा, थाना खेती बलिया, उत्तर प्रदेश, उम्र 24 वर्ष से हुई थी। उक्त व्यक्ति द्वारा उनकी पुत्री से दोस्ती कर उसकी अश्लील वीडियो बनाकर उसे वायरल करते हुए उसके साथ दुष्कर्म की कोशिश की तथा उसका पीछा करते हुए उसके काॅलेज डीआईएमएस शंकरपुर सहसपुर पहुँच गया।
उक्त सूचना पर थाना सहसपुर पर सम्बन्धित धाराओं में अभियोग पंजीकृत करते हुए विवेचना प्रारम्भ की गयी। अभिनव कुमार यादव को पूछताछ एवं साक्ष्य संकलन की कार्यवाही हेतु थाना सहसपुर पर बुलाया गया, जिसे पूछताछ के पश्चात एंव अग्रिम साक्ष्य संकलन की कार्यवाही हेतु सुरक्षा की दृष्टि से थाना सहसपुर के हवालात में रखा गया। जो आज 30-11-2019 की प्रातः हवालाती कम्बल के किनारों को कील से बांधकर उसमें लटका हुआ पाया गया। जिसे तत्काल् सीएचसी सहसपुर ले जाया गया, जहां चिकित्सकों द्वारा उसे मृत घोषित किया गया।
उक्त रिपोर्ट के आधार वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून के निर्देशानुसार सर्वप्रथम मृतक के परिजनों को उक्त घटना से अवगत कराया गया।
घटना के सम्बन्ध में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग के दिशा निर्देशानुरूप जिलाधिकारी देहरादून को उपरोक्त प्रकरण की सूचना देते हुए अग्रिम कार्यवाही करने, मुख्य चिकित्साधिकारी देहरादून को चिकित्सको का पैनल गठित कर मृतक का पोस्टमार्टम कराने तथा पोस्टमार्टम की वीडियोग्राफी कराये जाने एवं मुख्य न्यायिक मजिस्ट्रेट देहरादून को मृतक के पंचायतनामे की कार्यवाही तथा उक्त प्रकरण की न्यायिक जांच हेतु न्यायिक मजिस्ट्रेट नियुक्त करने हेतु पत्राचार करते हुए सम्पूर्ण प्रकरण व की गयी कार्यवाही के सम्बन्ध में राष्ट्रीय मानवाधिकार आयोग व राज्य मानवाधिकार आयोग को रिपोर्ट प्रेषित की गई है।
उक्त प्रकरण के संबंध में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक देहरादून द्वारा विभागीय कार्यवाही की गयी है। जिसमें उक्त घटना के परिप्रेक्ष्य में प्रारम्भिक रूप से लापरवाही परिलक्षित होने पर रात्रि अधिकारी हे0कां0प्रो0 महेन्द्र सिंह नेगी तथा हे0कां0प्रो0 सर्वेश कुमार को तत्काल् प्रभाव से निलम्बित किया गया।
उक्त घटना की निष्पक्ष जांच हेतु थानाध्यक्ष सहसपुर उ0नि0 पी0डी0 भट्ट तथा विवेचक म0उ0नि0 लक्ष्मी जोशी को लाइन हाजिर किया गया है। उक्त प्रकरण की विभागीय जांच पुलिस अधीक्षक नगर को सौंपी गयी है।
बताते चलें कि एसओ पीडी भट्ट ने मय पुलिस बल के साथ गत 22 नवंबर को नेहरू कॉलोनी निवासी दिग्गज पत्रकार शिव प्रसाद सेमवाल को उनके घर से उठाकर सहसपुर थाना ले गए थे। जहां से उन पर कई संगीन धाराएं लगाकर विकासनगर कोर्ट में पेश करने के बाद उन्हें जेल भेज दिया गया। सहसपुर पुलिस की इस तरह की कार्यवाही से उनकी जमकर किरकिरी हुई थी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

ब्रेकिंग: एनएसए अजीत डोभाल को एचएनबी दीक्षांत समारोह में मानद उपाधि से नवाजा

ब्रेकिंग: एनएसए अजीत डोभाल को एचएनबी दीक्षांत समारोह में मानद उपाधि से नवाजा हेमवती नन्दन बहुगुणा गढ़वाल विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल को मानद उपाधि से नवाजा गया है। इससे पूरे उत्तराखंडवासी गौरवान्वित महसूस कर […]
ajit dobhal