Ankita Murder case: अंकिता हत्याकांड से उत्तराखंड में उबाल, आक्रोशित भीड़ ने विधायक यमकेश्वर के वाहन के शीशे फोड़े, विनोद आर्य व अंकित भाजपा से निष्कासित, रिजॉर्ट में लगाई आग

admin
1664009704874

उत्तराखंड अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग के उपाध्यक्ष अंकित आर्य को हटाया

मुख्यधारा/ऋषिकेश

ऋषिकेश में अंकिता भंडारी हत्याकांड (Ankita Murder case) के बाद लोगों में उबाल देखा जा रहा हैै। गुस्साये लोगों ने यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट के गाड़ी के शीशे तोड़ दिए। पुलिस किसी तरह उन्हें सुरक्षित स्थान तक ले जा पाई। वहीं हत्यारोपी पुलकित आर्य के वनतारा रिजॉर्ट में स्थानीय लोगों द्वारा आग लगाने की सूचना भी आ रही है।
वहीं दूसरी ओर उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी ने भी इस घटना पर पैनी नजर रखी हुई है। सर्वप्रथम उन्होंने बीती अर्धरात्रि को ही आरोपी के रिजॉर्ट में बुलडोजर चलवा दिया। इसके साथ ही उन्होंने प्रदेश में संचालित सभी रिजार्ट की जांच करने के निर्देश दिए हैं।

इसके अलावा इस प्रकरण की जांच के लिए पुलिस उपमहानिरीक्षक पी. रेणुका देवी के नेतृत्व में एसआईटी का गठन किया गया है।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर उत्तराखंड अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग में नामित उपाध्यक्ष अंकित आर्य पुत्र विनोद आर्य निवासी आर्यनगर हरिद्वार को पद से हटा दिया है।

यही नहीं भाजपा प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र भट्ट ने भी इस घटना का संज्ञान लेते हुए भाजपा नेता डा. विनोद आर्य एवं उनके पुत्र डा. अंकित आर्य को भाजपा से तत्काल प्रभाव से निष्कासित कर दिया है।

बताते चलें कि पौड़ी गढ़वाल के लक्ष्मणझूला थाना क्षेत्रांतर्गत वनतरा रिजॉर्ट मे 19 वर्षीय अंकिता भंडारी रिशेप्शनिस्ट थी। वह बीती 18 सितंबर को रहस्यमयी ढंग से गायब हो गई थी। इस पर रिजॉर्ट के संचालक पुलकित आर्य ने ही उनकी गुमशुदगी की रिपोर्ट राजस्व पुलिस में दर्ज कराई थी। जब उसका कहीं पता नहीं चल पाया तो यह मामला लक्ष्मणझूला थाना पुलिस को स्थानांतरित किया गया।

इसके बाद गत दिवस पुलिस ने रिजॉर्ट मालिक पुलकित आर्य, मैनेजर अंकित एवं भाष्कर को गिरफ्तार कर लिया। पहले वह मामले को उलझाने का प्रयास कर रहे थे, किंतु जब पुलिस ने सख्ती की तो वह टूट गए और सारा घटनाक्रम को उगल दिया। इस दौरान यह बात सामने आई कि वे लोग अंकिता को यहां आने वाले ग्राहकों से संबंध बनाने को कहते थे। ये बात अंकिता किसी को बता रही थी। जिस पर उन्होंने योजना बनाई और अंकिता को चीला नजर में धक्का देकर फेंक दिया। इसके बाद वे वापस चले गए। तत्पश्चात छानबीन शुरू हुई।

एसडीआरएफ की टीम ने आज सुबह ही चीला नहर से अंकिता का शव बरामद किया। जिसके बाद लोगों जबर्दस्त उबाल देखा जा रहा है। (Ankita Murder case) सड़कों पर प्रदर्शन कर रहे आक्रोशित लोग आरोपियों को फांसी देने की मांग कर रहे हैं। अंकित का शव एम्स में पोस्टमार्टम के लिए लाया गया है। इस दौरान जब यमकेश्वर विधायक रेनू बिष्ट वहां आई तो भीड़ ने उनकी गाड़ी के शीशे क्षतिग्रस्त कर दिए।

मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी के निर्देश पर उत्तराखण्ड अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग में नामित उपाध्यक्ष अंकित आर्य पुत्र विनोद आर्य निवासी स्वदेशी भवन, आर्य नगर, हरिद्वार को उत्तराखण्ड अन्य पिछड़ा वर्ग आयोग अधिनियम, 2003 (अधिनियम संख्या 7 वर्ष 2003) की धारा 5 की उपधारा 3 (च) के तहत तत्काल प्रभाव से उक्त पद से पदमुक्त किया गया है।

प्रमुख सचिव एल फैनई द्वारा इसका आदेश जारी कर दिया गया है। तदक्रम में अंकित आर्य को अनुमन्य सुविधाएं भी तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दी गई है।

Screenshot 20220924 133303 Drive

IMG 20220924 WA0023

 

यह भी पढें : अंकिता हत्याकांड (Ankita Bhandari) : एसआईटी का गठन कर सीएम धामी ने दिए दोषियों को कड़ी सजा दिलाने के सख्त निर्देश। पुलिस ने किया शव बरामद। रिजॉर्ट में अर्धरात्रि में चलाया बुलडोजर

Next Post

Ankita bhandari murder case: मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता और भाजपा के नेता विनोद आर्य को सीएम धामी ने पार्टी से निष्कासित किया

मुख्य आरोपी पुलकित आर्य के पिता और भाजपा के नेता विनोद आर्य को सीएम धामी ने पार्टी से निष्कासित किया उत्तराखंड की बेटी अंकिता भंडारी की हत्या (Ankita bhandari murder case) के बाद मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी एक्शन में है। […]
IMG 20220924 WA0009