मेरठ में फंसे दो सौ से ढाई सौ प्रवासियों ने सीएम से लगाई उत्तराखंड पहुंचाने की गुहार

admin
harish kumar

विभिन्न होटलों में करते थे काम, सैलरी मिलनी हो गई बंद

राहुल राणा
देहरादून। मेरठ के विभिन्न होटलों में काम करने वाले लगभग दो सौ से ढाई सौ उत्तराखंडी लोग फंसे हुए हैं। उन्होंने मुख्यमंत्री के नाम पत्र लिखकर उन्हें उत्तराखंड अपने गृह जनपद में पहुंचाने की मांग की है।
मेरठ में फंसे लोगों ने मुख्यधारा को जानकारी देते हुए बताया कि उत्तराखंड के विभिन्न जनपदों के करीब दो सौ से ढाई सौ लोग फंसे हुए हैं। वे लोग यहां विभिन्न होटलों में नौकरी करते थे। लॉकडाउन के कारण उनकी सैलरी मिलनी बंद हो गई है। राशन-पानी भी खत्म होने की कगार पर है। ऐसे में उन्होंने मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत से उन्हें उत्तराखंड पहुंचाने की गुहार लगाई है।

IMG 20200429 WA0042
उनका कहना था कि लॉकडाउन का पालन करते हुए वे लोग अब तक जहां थे, वहीं पर रुके हुए थे, लेकिन अब उनके सम्मुख समस्या खड़ी हो गई है और उनका धैर्य जवाब देने लगा है।

IMG 20200429 WA0041
मेरठ में होटल में काम करने वाले रुद्रप्रयाग जनपद निवासी हरीश कुमार ने बताया कि उत्तराखंड सरकार द्वारा जो लिंक रजिस्ट्रेशन के लिए जारी किया है, वह काम ही नहीं कर रहा है। साइट खुल रही है तो उनके पास ओटीपी ही नहीं पहुंच पा रहा है। ऐसे में उनके सम्मुख समस्या खड़ी हो गई है। उन्होंने बताया कि अब उनकी उम्मीदें उत्तराखंड सरकार व शासन प्रशासन पर ही टिकी हैं। उन्होंने सरकार से जल्द से जल्द उन्हें उत्तराखंड के उनके गृह जनपदों में जल्द से जल्द पहुंचाया जाए।

IMG 20200429 WA0044
मेरठ के जैसे ही अन्य राज्यों में भी हजारों उत्तराखंडी प्रवासी उत्तराखंड लौटने को बेचैन हैं। रजिस्टे्रशन करने में हो रही दिक्कत के कारण उनका धैर्य अब जवाब देने लगा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

बड़ी खबर : ऋषिकेश एम्स में भर्ती कोरोना संक्रमित महिला की मौत

जगदंबा कोठारी/ऋषिकेश ऋषिकेश स्थित एम्स में भर्ती कोरोना संक्रमित 56 साल की महिला की मौत हो गई है। वह नैनीताल जनपद के लालकुआं क्षेत्र की रहने वाली थी और ब्रेन स्ट्रोक की समस्या के बाद उसे 22 अप्रैल को एम्स […]
aiims