UGC NET Exam: 24 घंटे में यूजीसी-नेट प्रवेश परीक्षा रद की गई, एनटीए के मैनेजमेंट की पिटी भद, शिक्षा मंत्रालय भी सवालों में - Mukhyadhara

UGC NET Exam: 24 घंटे में यूजीसी-नेट प्रवेश परीक्षा रद की गई, एनटीए के मैनेजमेंट की पिटी भद, शिक्षा मंत्रालय भी सवालों में

admin
u 1 3

UGC NET Exam: 24 घंटे में यूजीसी-नेट प्रवेश परीक्षा रद की गई, एनटीए के मैनेजमेंट की पिटी भद, शिक्षा मंत्रालय भी सवालों में

मुख्यधारा डेस्क

लगातार पेपर लीक और परीक्षाओं में धांधली को लेकर केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय भी सवालों के घेरे में है। अभी नीट प्रवेश परीक्षाओं में हुई गड़बड़ियों का मामला थमा भी नहीं था कि अब एक और परीक्षा विवादों के घेरे में आ गई है। शिक्षा मंत्रालय ने 18 जून, 2024 को देश के विभिन्न शहरों में आयोजित यूजीसी-नेट जून 2024 की परीक्षा को रद कर दिया है। जल्द ही परीक्षा की नई तारीखों का एलान किया जाएगा। नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (एनटीए) ने परीक्षा दो शिफ्ट में ओएमआर (पेन और पेपर) मोड में आयोजित की थी।

u 1

नेट की परीक्षा की पहली शिफ्ट सुबह 9.30 बजे से दोपहर 12.30 बजे तक और दूसरी शिफ्ट दोपहर 3 बजे से शाम 6 बजे तक थी। एनटीए ने एक ही दिन में सभी 83 विषयों के लिए परीक्षा आयोजित की थी। देश के 317 शहरों में 1205 सेंटर्स पर परीक्षा हुई थी। 11 लाख 21 हजार 225 कैंडिडेट्स ने फॉर्म भरा था, जिनमें से करीब 81% (9,08,580) ने एग्जाम दिया। पहली शिफ्ट में 4 लाख 73 हजार 484 और दूसरी शिफ्ट में 4 लाख 35 हजार 96 स्टूडेंट्स शामिल हुए थे।

यह भी पढ़ें : देवभूमि का माहौल खराब करने की नहीं किसी को छूट, कड़ी कार्रवाई को रहें तैयार: सीएम धामी

19 जून को विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (यूजीसी) को परीक्षा के बारे में गृह मंत्रालय के इंडियन साइबर क्राइम कोर्डिनेशन सेंटर से परीक्षा में गड़बड़ी के इनपुट्स मिले थे। लगातार दो प्रवेश परीक्षाओं में हुई गड़बड़ियों के मामले को लेकर एनटीए के मैनेजमेंट की भद पिट गई है। केंद्रीय शिक्षा मंत्रालय भी सवालों में घेरे में है। शिक्षा मंत्रालय ने कहा कि प्रथमदृष्टया यह संकेत मिला कि परीक्षा कराने में ईमानदारी नहीं बरती गई। इससे पहले UGC NET का एग्जाम ऑनलाइन सीबीटी यानी कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट होता था। ये बदलाव इसलिए किया गया, ताकि सभी सब्जेक्ट्स और सभी सेंटर्स पर एग्जाम एक ही दिन में आयोजित किया जा सके। साथ ही दूर-दराज के सेंटर्स में भी एग्जाम आयोजित हो सके।

UGC NET एग्जाम देशभर की यूनिवर्सिटीज में PhD एडमिशन, जूनियर रिसर्च फेलोशिप (JRF) और असिस्टेंट प्रोफेसर के पद के लिए होता है। कांग्रेस ने केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए कहा, ‘मोदी सरकार युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रही है। मोदी सरकार- पेपर लीक सरकार बन गई है। आम आदमी पार्टी ने भी ट्वीट कर कहा, इस सरकार से देश के भविष्य को बड़ा नुकसान हो रहा है। देश के करोड़ों छात्र हर रोज निराशा के अंधकार में डूब रहे हैं।

यह भी पढ़ें : बद्रीनाथ विधानसभा उप चुनाव की तैयारियों में जुटा प्रशासन

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने कहा- भाजपा सरकार का लीकतंत्र व लचरतंत्र युवाओं के लिए घातक है। NEET परीक्षा में हुए घपले की खबरों के बाद अब 18 जून को हुई NET की परीक्षा भी गड़बड़ियों की आशंका के चलते रद की गई। क्या अब जवाबदेही तय होगी? क्या शिक्षा मंत्री इस लचरतंत्र की जिम्मेदारी लेंगे?आम आदमी पार्टी ने एक्स पर लिखा- बीजेपी की निक्कमी सरकार में एक भी परीक्षा बिना धांधली और पेपर लीक के संपन्न नहीं हो रही है। इस सरकार से देश के भविष्य को बड़ा नुकसान हो रहा है। देश के करोड़ों छात्र हर रोज निराशा के अंधकार में डूब रहे हैं। बता दें कि नेशनल टेस्टिंग एजेंसी यानी NTA पहले से ही NEET UG 2024 विवाद को लेकर आरोपों से घिरी है। इस मामले में सुप्रीम कोर्ट ने NTA को दो हफ्तों का नोटिस भी जारी किया है। इसकी अगली सुनवाई 8 जुलाई को होगी।

यह भी पढ़ें : समस्याओं के समाधान के लिए दिव्यांग फरियादियों के पास स्वयं पहुंचती हैं मुख्य सचिव राधा रतूड़ी

Next Post

एसजीआरआरयू में योग दर्शन पर मंथन को जुटे योग शोधार्थी

एसजीआरआरयू में योग दर्शन पर मंथन को जुटे योग शोधार्थी देश के 15 राज्यों से 500 शोधार्थियों ने किया प्रतिभाग 10वें अन्तर्राष्ट्रीय योग दिवस के उपलक्ष्य में एसजीआरआरयू में सेमिनार का आयोजन राष्ट्रीय सेमीनार में 40 शोधपत्रों का हुआ प्रस्तुतीकरण […]
s 1 9

यह भी पढ़े