अब प्राइवेट कंपनी करेगी पीडब्ल्यूडी के कार्यों की गुणवत्ता जांच

admin

देहरादून। लोक निर्माण विभाग द्वारा कराए जाने वाले 5 करोड़ से अधिक की लागत के कामों की गुणवत्ता की जांच का काम प्राइवेट कंपनी को सौंप दिया गया है। इस संबंध में शासन की ओर से मुख्य अभियंता को आदेश भी जारी कर दिए गए हैं।
राज्य में लोक निर्माण विभाग के अधीन सरकारी प्रयोगशाला कुंआवाला देहरादून में स्थित है। इसके अलावा आईआईटी रुड़की जैसी संस्था भी निर्माण कार्य की गुणवत्ताका परीक्षण का कार्य करती रही हैं। अब निर्माण कार्यों की गुणवत्ता की जांच दिल्ली की श्रीराम कन्सलटेंट प्रा.लित्र को दे दिया गया है।
अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री ओम प्रकाश ने बताया कि शासन स्तर पर सम्यक विचारोपरान्त निर्णय लिया गया है कि लोक निर्माण विभाग में राज्य सेक्टर के अन्तर्गत स्वीकृत (नाबार्ड से वित्त पोषित योजनाओं सहित) रु. 5.00 करोड़ से अधिक लागत के कार्यों की गुणवत्ता का मूल्यांकन श्री राम कन्सल्टैन्ट प्रा. लि. से कराया जायेगा।
उन्होंने बताया कि यह मूल्यांकन दो चरण में किया जायेगा। जिसमें प्रथम चरण में योजना का 50 प्रतिशत कार्य पूर्ण होने तथा द्वितीय चरण में योजना का 100 प्रतिशत कार्य पूर्ण होने पर मूल्यांकन किया जायेगा।
अपर मुख्य सचिव ने बताया कि लोक निर्माण विभाग में राज्य सेक्टर के अन्तर्गत स्वीकृत (नाबार्ड से वित्त पोषित योजनाओं सहित) रु. 5.00 करोड़ से अधिक लागत के कार्यों की गुणवत्ता का मूल्यांकन श्री राम कन्सल्टैन्ट प्रा. लि. से कराए जाने हेतु आवश्यक कार्यवाही सुनिश्चित किये जाने के लिए उनके द्वारा प्रमुख अभियन्ता लोक निर्माण विभाग, उत्तराखण्ड देहरादून को पत्र प्रेषित कर दिया गया है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

महाकुम्भ मेला के पक्के कामों को करें अगस्त तक पूरे

देहरादून। शहरी विकास, आवास, राजीव गांधी शहरी आवास, जनगणना, पुनर्गठन एवं निर्वाचन मंत्री मदन कौशिक ने विधानसभा सभाकक्ष में महाकुम्भ मेला-2021 के सम्बन्धमें बैठक की। मंत्री मदन कौशिक ने कहा कि महाकुम्भ मेला-2021 में तेजी लाई जाए तथा गुणवत्ता एवं […]
haridwar