हनोल स्थित महासू देवता धाम पहुंची बाढौ की देवछड़ी यात्रा - Mukhyadhara

हनोल स्थित महासू देवता धाम पहुंची बाढौ की देवछड़ी यात्रा

admin
h 1 4

हनोल स्थित महासू देवता धाम पहुंची बाढौ की देवछड़ी यात्रा

नीरज उत्तराखंडी/त्यूनी

हनोल स्थित महासू देवता मंदिर में खत कोरु के बाढौ़ गांव वासी देव की छड़ी के साथ मंदिर परिसर में पहुंचकर पूजा अर्चना की और जौनसार बावर के सुख समृद्धि की कामना की।

बाढौ़ गांव से हर तीसरे वर्ष हनोल स्थित महासू देवता मंदिर में स्थानीय कुलदेवता चालदा महाराज की छड़ी पहुंचती है जिसकी पूजा अर्चना के पश्चात समस्त गांववासी रात्रि में मंदिर परिसर में ही रुकते हैं।

गांव के स्याना हाकम चौहान ने कहा है कि कई वर्ष पहले पैदल आकर के यह यात्रा पूरी होती थी परंतु अब वाहनों के माध्यम से आवागमन होता है। उनका कहना है की देव छड़ी गांव पहुंचने के पश्चात् गांव में भंडारे का आयोजन होता है।

यह भी पढ़ें : चमोली में उत्सव की तरह मनाया गया पर्यावरण दिवस (Environment day)

उन्होंने कहा है कि इस वर्ष गांव में छड़ी के इस यात्रा के साथ ही गांव का वार्षिक उत्सव कार्यक्रम भी है जो दो दिनों तक संचालित होगा।

उन्होंने कहा है कि गांव की सुख और समृद्धि के लिए प्रत्येक 3 वर्ष में यह यात्रा की जाती है, जिसमें गांव के सभी परिवारों के लोग यात्रा में सम्मिलित होते हैं। उन्होंने कहा है कि हनोल स्थित महासू देवता की अत्यंत महिमा है यहां जो भी मन्नते मांगते हैं वह पूरी होती है।

इस अवसर पर चमन सिंह चौहान, मायाराम चौहान, संतराम चौहान, जसपाल चौहान, बहादुर सिंह चौहान, मुन्ना सिंह चौहान, संदीप चौहान, सतवीर चौहान, बिट्टू चौहान, आकाश चौहान, भोपाल सिंह, मनीष चौहान, चौहान, स्वराज सिंह मंथन सिंह, चौहान, बारु सिंह, गंभीर सिंह, महेंद्र सिंह, अंकित चौहान, वीरेंद्र वर्मा, शिवा दास, मिजान दास, नकटा दास, बबलू दास, आदि सहित अनेक लोगों उपस्थित थे।

यह भी पढ़ें : केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग (Kedarnath Wildlife Division) ने 11900 फीट की ऊंचाई पर धूमधाम से मनाया विश्व पर्यावरण दिवस

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

अवैध खनन (illegal mining) पर हो मनन

अवैध खनन (illegal mining) पर हो मनन नीरज उत्तराखंडी/उत्तरकाशी जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने राजस्व एवं खनन विभाग के अधिकारियों को अवैध खनन पर कारगर रोक लगाने के साथ ही रीवर ड्रेजिंग के पट्टों तथा स्टोन क्रशरों के संचालन […]
a 1

यह भी पढ़े