अवैध खनन (illegal mining) पर हो मनन - Mukhyadhara

अवैध खनन (illegal mining) पर हो मनन

admin
a 1

अवैध खनन (illegal mining) पर हो मनन

नीरज उत्तराखंडी/उत्तरकाशी

जिलाधिकारी डॉ. मेहरबान सिंह बिष्ट ने राजस्व एवं खनन विभाग के अधिकारियों को अवैध खनन पर कारगर रोक लगाने के साथ ही रीवर ड्रेजिंग के पट्टों तथा स्टोन क्रशरों के संचालन में नियमों का पूरी तरह से अनुपालन सुनिश्चित कराने के लिए नियमित रूप से निरीक्षण करने के निर्देश दिए हैं।

जिलाधिकारी ने कार्यदायी संस्थाओं द्वारा निर्माण कार्यों में प्रयुक्त खनन सामग्री की रॉयल्टी जमा कराए का सत्यापन भी किए जाने की हिदायत देते हुए कहा है कि तय मानकों के अनुसार राजस्व जमा न कराए जाने एवं अवैधन खनन के मामलों में कड़ी कार्रवाई की जाय।

जिला मुख्यालय में अवैध खनन पर रोक लगाने के संबंध में आयोजित एक बैठक में जिलाधिकारी ने कहा कि खनन से संबंधित राजस्व और बकाया की वसूली समय से की जानी जरूरी है।

यह भी पढ़ें : चमोली में उत्सव की तरह मनाया गया पर्यावरण दिवस (Environment day)

राजस्व चोरी करने तथा अवैध खनन के मामलों में सख्त कार्रवाई करने के निर्देश देते हुए जिलाधिकारी ने कहा कि अगली बैठक में इस दिशा में हुई प्रगति की विस्तार से समीक्षा की जाएगी।

जिलाधिकारी ने कहा कि रीवर ड्रेजिंग के लिए जारी पट्टों में आरबीएम के निस्तारण के तय मानकों व कायदों का पूरी तरह से अनुपालन कराते हुए पट्टों की आड़ में नियमविरूद्ध कार्यों पर सख्ती से कार्रवाई की जाय।

जिलाधिकारी ने क्रशर प्लांटों पर भी रवन्ना, स्टॉक, निकासी, एवं सीसीटीवी फुटेज आदि के साथ ही खनन सामग्री के परिवहन में प्रयुक्त वाहनों का नियमित सत्यापन करने के निर्देश देते हुए कहा कि जिले को अर्जित होने वाले राजस्व का नुकसान कतई नहीं होने दिया जाय। उन्होंने निर्माण कार्यों में खनन सामग्री के प्रयोग के लिए नियमानुसार रॉयल्टी जमा करने की भी सभी कार्यदायी संस्थाओं के अभिलेखों से पुष्टि कराने की भी हिदायत दी।

यह भी पढ़ें : केदारनाथ वन्य जीव प्रभाग (Kedarnath Wildlife Division) ने 11900 फीट की ऊंचाई पर धूमधाम से मनाया विश्व पर्यावरण दिवस

जिलाधिकारी ने कहा कि अवैध खनन तथा नियमों के उल्लंघन के मामलों में सक्षम एवं अधिकृत पदाधिकारी के स्तर से ही जांच एवं रिपोर्ट तैयार करने की कार्रवाई की जाय, ताकि इनमें वाद दायर होने पर प्रशासन का पक्ष मजबूत रहे और किसी तकनीकी कमी की वजह से ऐसे मामलों के निरस्त होने की संभावना न रहे।

जिलाधिकारी ने वन विभाग के अधिकारियों से भी अवैध खनन के मामलों पर कड़ी निगरानी रख कार्रवाई करने की अपेक्षा की।
बैठक में प्रभागीय वनाधिकारी रविन्द्र पुंडीर, उप जिलाधिकारी बृजेश कुमार तिवारी, नवाजिश खलीक, मुकेश चंद रमोला, देवानंद शर्मा, भूवैज्ञानिक जीडी प्रसाद, एआरटीओ जितेन्द्र कुमार सहित अन्य अधिकारियों ने भी भाग लिया।

यह भी पढ़ें : पीएम मोदी नई सरकार का जल्द चाहते हैं गठन, राष्ट्रपति को सौंपा इस्तीफा, 8 जून को ले सकते हैं प्रधानमंत्री पद की शपथ

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सीएम धामी पहले दिन से ट्रैकर्स की खोज एवं बचाव के लिए संचालित रेस्क्यू अभियान पर निरंतर रखे रहे नजर

सीएम धामी पहले दिन से ट्रैकर्स की खोज एवं बचाव के लिए संचालित रेस्क्यू अभियान पर निरंतर रखे रहे नजर मुख्यमंत्री ने उत्तरकाशी स्थित सिल्ला-कुशकल्याण-सहस्त्रताल ट्रैक रूट पर ट्रैकिंग दल के साथ घटित दुर्घटना की आयुक्त गढ़वाल मण्डल को मजिस्टीरियल […]
puskar singh dhami 1 1

यह भी पढ़े