हिंसा से पीड़ित महिलाओं को ‘सखी वन स्टाॅप सेंटर’ की छांव

admin
20190912 212537
केंद्र सहायतित योजना के अंतर्गत सर्वे चौक स्थित महिला छात्रावास परिसर में स्थित है सेंटर
देहरादून। सखी वन स्टाप सेंटर के अंतर्गत सभी तरह की हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एक ही स्थान पर अस्थायी आश्रय, पुलिस-डेस्क, विधि सहायता, चिकित्सा एवं काउन्सलिंग की सुविध सखी वन स्टाप सेन्टर में उपलब्ध करायी जायेगी।
  मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र रावत ने महिला सशक्तिकरण विभाग के सखी वन स्टाप सेंटर का लोकार्पण किया। यह सखी वन स्टाप सेंटर, केंद्र सहायतित योजना के अंतर्गत सर्वे चैक स्थित महिला छात्रावास परिसर में बनाया गया है।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि जीवन में कई बार ऐसी समस्याएं आती हैं, जब आश्रय की जरूरत पड़ती है। सखी वन स्टाप सेंटर भी उन महिलाओं और बालिकाओं को सहारा देंगे जो कि तमाम वजहों से परेशान हैं। उन्हें सुविधएं उपलब्ध कराने के साथ ही अच्छा माहौल दिया जाएगा।
मुख्यमंत्री ने कहा कि जीवन में स्वच्छता बहुत जरूरी है। इस पर किसी तरह की हिचक नहीं होनी चाहिए। हाल ही में एक सर्वे आया था कि माहवारी में स्वच्छता का ध्यान न रख पाने से महिलाओं में सर्वाइकल केंसर की सम्भावना बढ़ जाती है। राज्य सरकार ने सैनेटरी नैपकिन कम कीमत पर उपलब्ध करने की योजना संचालित की है। बच्चों को कुपोषण से बाहर निकालने के लिए विशेा प्रयास किए जा रहे हैं। अति कुपोषित बच्चों की उचित देखरेख के लिए गोद योजना शुरू की गई है। आंगनबाड़ी केंद्रों के बच्चों को सप्ताह में दो दिन निःशुल्क दूध उपलब्ध कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री ने महिला छात्रावास परिसर का भी अवलोकन किया। उन्होंने यहां आवश्यक उपकरण व अन्य सुविधएं उपलब्ध कराने की घोषणा की।
महिला सशक्तिकरण एवं बाल विकास मंत्री रेखा आर्या ने कहा कि सखी वन स्टाप सेंटर का उद्देश्य एक ही छत के नीचे हिंसा से पीड़ित महिलाओं एवं बालिकाओं को एकीकृत रूप से चिकित्सा, विधिक, मनौवैज्ञानिक सहायता करना है।
इस अवसर पर विधयक खजानदास, सचिव सौजन्या, निदेशक आईसीडीएस झरना कमठान भी उपस्थित थीं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

...तो क्या अक्टूबर आखिर तक उत्तराखंड को लेकर आ सकता है नेतृत्व परिवर्तन का संदेश!!! 

भारतीय जनता पार्टी संघ और सरकार द्वारा करवाए गए विभिन्न सर्वे मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत की पेशानी पर  बल डालते हुए नजर आ रहे हैं।  उदाहरण के लिए आम जनता की नाराजगी के साथ-साथ सरकार के मंत्रियों, विधायकों का असंतोष […]
Travindra ani