छात्र-छात्राएं गीली मिट्टी में बैठकर पढ़ाई करने को मजबूर

admin
IMG 20191220 WA0003

पुरोला। राइका टिकोची में आपदा के चार माह बीतने के बाद भी आपदा के गहरे जख्म अभी नहीं भर पाये हैं। शासन प्रशासन की घोर उपेक्षा के चलते अव्यवस्था का आलम यह है कि कड़ाके ठण्ड में भी छात्र छात्राएँ खुले आकाश तले गीली मिट्टी में बैठकर मासिक परीक्षा तथा पठन पाठन करने को मजबूर हैं।
बताते चलें कि 18 अगस्त को क्षेत्र में आई भीषण आपदा में जल प्रलय से राजकीय इंटर कालेज के भवन कक्षा कक्ष अभिलेख तथा फर्नीचर बाढ की भेंट चढ़ गये। ढांचा गत सुविधाओं के अभाव में राजकीय इंटर कालेज टिकोची में अध्ययनरत छात्र छात्राएं खुले आकाश तले गीली मिट्टी में बैठकर मासिक परीक्षा तथा पठन पाठन करने को मजबूर है। कांग्रेस के युवा कार्य कर्ता मन मोहन रावत का कहना है कि इस संबंध में शासन प्रशासन को कई बार अवगत कराया गया, लेकिन कोई ध्यान नहीं दिया गया। स्थिति यह है कि
बैठने की व्यवस्था न होने से छात्र कड़ाके की ठंड में खुले आकाश तले ठिठुरने को विवश है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

वीडियो: हल्द्वानी में सीएए व एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन की गूंज

वीडियो: हल्द्वानी में सीएए व एनआरसी के खिलाफ प्रदर्शन की गूंज हल्द्वानी। सी.ए.ए.और एन.आर.सी.के खिलाफ लोगों के प्रदर्शन की गूंज से आज हल्द्वानी गुंजायमान हो गया। यहां करीब दस हजार से अधिक प्रदर्शनकारियों ने विरोध जताते हुए प्रदर्शन किया और […]
caa n nrc against pradarshan