उत्तरकाशी : स्थानीय लोगों द्वारा बताई गई समस्या का प्राथमिकता के साथ निस्तारण करें संबंधित विभाग : RBS रावत

admin
neeraj uttarkhandi
उत्तरकाशी : स्थानीय लोगों द्वारा बताई गई समस्या का प्राथमिकता के साथ निस्तारण करें संबंधित विभाग : RBS रावत
नीरज उत्तराखंडी/उत्तरकाशी ,मुख्यधारा
मुख्यमंत्री के प्रमुख सलाहकार डॉ रघुवीर सिंह रावत ने जनपद स्तरीय अधिकारियों के साथ विकास कार्यों एवं कोविड-19 की समीक्षा बैठक की।
 जिला सभागार में बैठक लेते हुए डॉ  रावत ने कहा कि मुख्यमंत्री के निर्देशों के क्रम में जनपद के तहसीलों  का भ्रमण किया गया। जहां स्थानीय लोगों  के साथ मुलाकात कर उनकी समस्याएं सुनीं गई। भ्रमण के दौरान किसान व बागवानों के साथ ही विभिन्न संगठनों ने अपनी समस्याएं उजागर की।
प्रमुख सलाहकार  रावत ने कहा जो समस्या स्थानीय लोगों द्वारा बताई गई है उसे प्राथमिकता के साथ सम्बंधित विभाग निस्तारण करना सुनिश्चित करें। जनपद में पर्यटन व बागवानी के जरिये स्वरोजगार की अपार संभावनाएं है। राज्य सरकार ने स्वरोजगार को बढ़ावा देने के लिए कई महत्वपूर्ण योजनाएं संचालित की है।
जिला पर्यटन अधिकारी को निर्देशित किया गया कि जनपद में साहसिक खेल के साथ ही इको टूरिज्म डेस्टिनेशन के लिए भी कार्य किये जाय। यहां के दयारा बुग्याल,हरकीदून, केदारकांठा, हरन्ता बुग्याल, कंडारा बुग्याल आदि  तमाम बुग्याल है जहां इको टूरिज्म डेस्टिनेशन के लिए कार्य किया जा सकता है।
उन्होंने जनपद में सभी बुग्यालों की सूची बनाने के निर्देश दिए। तथा प्राथमिकता के आधार पर इको टूरिज्म डेस्टिनेशन के लिए लक्ष्य निर्धारित करने को कहा। उन्होंने कहा कि स्थानीय भेड़ बकरी पालक चरवाहों का बुग्यालों तक जाने वाला पारंपारिक पैदल रास्ते हैं जिन्हें ठीक किया जाना जरूरी है। इसके लिए भी प्राथमिकता के तहत कार्य कर लिए जाय।
उन्होंने कहा कि कृषि आजीविका की रीढ़ है इसलिए किसानों को समय पर खाद, दवाई, पौध आदि दी जाय। बागवानी को बढ़ावा देने व स्वरोजगार स्थापित करने के  लिए टमाटर, मटर आलू,मशरूम के अलावा यहां की जलवायु के हिसाब से सेब,अखरोट के उत्पादन की क्षमता  बढ़ाने हेतु उच्च गुणवत्ता की पौध बागवानों को उपलब्ध करायी जाय।
हर्षिल उद्यान केंद्र को चालू करने के निर्देश दिए तथा किसान व बागवानों को उनकी फसल का उचित दाम मिल सकें इस हेतु उन्हें बाजार उपलब्ध कराने को कहा गया। उन्होंने कहा कि मानसून निकट है इसलिए आपदा के दृष्टिगत भी सभी तैयारी सुनिश्चित कर ली जाय। मनरेगा के अंर्तगत स्थायी प्रवृत्ति के कार्य किये जाय। उन्होंने जल संरक्षण के अधिक कार्य  करने पर बल दिया। प्रमुख सलाहकर  रावत ने सड़क महकमें के साथ ही जल संस्थान, जल निगम, मत्स्य,बिजली,बाल विकास,पशुपालन, उरेड़ा, सहकारिता, डेयरी,कृषि आदि विभागों की समीक्षा की।
 रावत ने कोविड की समीक्षा करते हुए कोरोना के प्रभावी नियंत्रण व रोकथाम को लेकर जनपद में सराहनीय कार्य करने पर जिलाधिकारी,पुलिस व स्वास्थ्य विभाग को बधाई देते हुए प्रशंसा की। तथा कोविड की तीसरी लहर की पुख्ता तैयारी करने के भी निर्देश दिए। सीएचसी व पीएचसी में पर्याप्त कर्मिंको की तैनाती करने को कहा।
 बैठक में जिलाधिकारी मयूर दीक्षित, एसपी मणिकांत मिश्रा, डीएफओ पुनीत तोमर, सीडीओ गौरव कुमार, जिलाध्यक्ष भाजपा रमेश चौहान, सीएमओ केएस चौहान, परियोजना निदेशक संजय सिंह, सीवीओ डॉ प्रलंयकरनाथ सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

जन अपेक्षाओं की पूर्ति के लिए योजनाओं का धरातल पर दिखाई देना नितान्त जरूरी : सीएम

जन अपेक्षाओं की पूर्ति के लिए योजनाओं का धरातल पर दिखाई देना नितान्त जरूरी : सीएम मुख्यमंत्री ने की जनपद पौड़ी की विभिन्न विधानसभा क्षेत्रों के लिये की गयी घोषणाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा अधिकारियों को दिये योजनाओं के क्रियान्वयन […]
dhan singh and cm tirath rawat