जौनपुर ब्लॉक की बीडीसी बैठक (BDC Meeting) में बोले विधायक प्रीतम पंवार : प्रत्येक विभाग को अपनी समस्याएं भेजें जनप्रतिनिधि

admin
Screenshot 20220625 233447 WhatsApp

शिवदयाल निराला/थत्यूड़

विकासखंड जौनपुर में क्षेत्र पंचायत जौनपुर की त्रैमासिक बीडीसी बैठक(BDC Meeting) ब्लाक प्रमुख सीता रावत की अध्यक्षता में संपन्न हो गई। इस अवसर पर क्षेत्रीय विधायक प्रीतम सिंह पंवार ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को एवं अधिकारियों का आपस में संवाद होना आवश्यक है, जिससे क्षेत्र की समस्याओं का जनप्रतिनिधि सही ढंग से निराकरण कर सके। जो वाद विवाद सदन में होता है, उसका आपसी संवाद करने से ही समाधान होगा। उन्होंने अपना सुझाव रखा कि प्रत्येक विभाग को जनप्रतिनिधि अपनी समस्याएं भेजें, ताकि सही ढंग से जनता का समाधान हो सके।

इस अवसर पर बैठक(BDC Meeting) में सर्वप्रथम जल निगम जल संस्थान पर चर्चा करते हुए क्षेत्र पंचायत सदस्य हरफूल दास ने बंगार सुनाऊं में जल जीवन मिशन के कनेक्शन ना होने का मामला उठाया साथ ही ग्राम पंचायत बंगार के जयवीर सिंह गुसाई को बंगार से कनेक्शन देने का मामला उठाया। ग्राम पंचायत बंगार की ग्राम प्रधान रीना बंगारी ने कहा कि बंगार में पहले से ही पेयजल की समस्या है जयवीर गुसाई को सुनाऊं से ही कनेक्शन दिया जाए।

जिला पंचायत सदस्य सनवीर बेलवाल ने विभाग से जानकारी लेनी चाहिए कि विकासखंड जौनपुर में विभाग से अब तक कितनी योजनाओं में कार्य हो रहा है या कितना बजट आपके पास उपलब्ध है कृपया जानकारी दें, जिस पर अधिशासी अभियंता जल निगम ने जानकारी देते हुए कहा कि हमारे पास 103 योजनाओं पर कार्य चल रहा है और इसके खर्च के लिए हमारे पास अड़तीस करोड़ धन सरकार द्वारा उपलब्ध है।

अरविंद सकलानी सुंदर सिंह रावत कल्पना चौहान कविता रौंछैला ग्राम प्रधान क्षेत्र पंचायत सदस्यों ने अपने क्षेत्र की पेयजल समस्या से विभाग को अवगत करवाया एवं निस्तारण की मांग की।

सिंचाई एवं लघु सिंचाई विभाग पर चर्चा करते हुए जिला पंचायत सदस्य सनवीर बेलवाल ने आरोप लगाया कि सिंचाई विभाग एवं लघु सिंचाई विभाग के अधिकारी जनप्रतिनिधियों के प्रस्ताव को अनदेखे करते हुए अपने चहेते ठेकेदारों के प्रस्तावों को प्राथमिकता देते हैं, जिससे क्षेत्र मैं धरातल के कार्यों की गुणवत्ता का कार्य सही ढंग से नहीं हो पाता जिससे जनता एवं जनप्रतिनिधियों में विभाग के प्रति भारी आक्रोश है। जिसमें क्षेत्रीय विधायक ने बीच में हस्तक्षेप करते हुए सिंचाई विभाग के लोगों को जमकर फटकार लगाते हुए कहा जनप्रतिनिधियों के प्रस्तावों का आदर करते हुए उनके प्रस्तावों को प्रमुखता के आधार पर लिया जाए और कार्य करवाई जाए।

इसके अलावा क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों ने अपने क्षेत्र की विभिन्न समस्याओं से संबंधित अधिकारियों को अवगत करवाया। शिक्षा विभाग पर चर्चा करते हुए ग्राम प्रधान अरविंद सकलानी जाडग़ांव ने मामला उठाते हुए कहा कि पूरे जौनपुर क्षेत्र में मैं अध्यापकों का देहरादून विकासनगर मसूरी आदि जगहों में से अपडाउन करते हैं, जिससे छात्र-छात्राओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है, जिसका जीता जागता उदाहरण राजकीय इंटर कॉलेज पुजार गांव का परीक्षा परिणाम बताता है।

उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा 7 किलोमीटर रेंज के सरकारी कर्मचारियों को रहने का निर्देश है लेकिन फिर भी शिक्षक शिक्षिका देहरादून विकासनगर मसूरी से अप डाउन करते हैं जोकि एक चिंताजनक है।

जिला पंचायत सदस्य सनवीर बेलवाल ने कहा कि जौनपुर विकासखंड में बाईस इंटर कॉलेज 18 हाई स्कूल 2 डिग्री कॉलेज है लेकिन किसी भी विद्यालय को एनसीसी की मान्यता नहीं दी गई उन्होंने सदन के माध्यम से एवं क्षेत्रीय विधायक के माध्यम से सरकार से तुरंत विकासखंड जौनपुर के विद्यालयों में एनसीसी खुलवाने की मांग की।

वन विभाग में चर्चा करते हुए मस्तराम नौटियाल सुभाष पैन्यूली ग्राम प्रधान मैड व बांडा चक्क ने मामला उठाते हुए कहा कि वन विभाग को क्षेत्र के प्रतिनिधियों द्वारा बराबर प्रस्ताव भेजे जा रहे हैं कि क्षेत्र के किसानों की कृषि भूमि जंगली जानवरों द्वारा बराबर नष्ट की जा रही है, इसके लिए जनप्रतिनिधियों द्वारा सुरक्षा बाढ़ हेतु प्रस्ताव भेजे जा रहे हैं लेकिन उस पर अमल नहीं हो पा रहा है।

ग्राम प्रधान सेंदुल ने प्रभागीय वन अधिकारी को बधाई देते हुए कहा कि उनके द्वारा क्षेत्र में किए जा रहे कार्यों के सहयोग के लिए पूरा सदन एवं मेरी ग्राम पंचायत सेंदुल धन्यवाद देते हैं और आशा करते हैं कि मसूरी वन प्रभाग इसी तरह से क्षेत्र के प्रत्येक पर्यटन स्थलों में अपना सहयोग देकर यहां के पलायन को रोकने में अपना सहयोग दें।

बैठक में सदन जल जीवन सिंचाई शिक्षा वन पर ही केंद्रित रहा इसके अलावा कृषि स्वास्थ्य समाज कल्याण निर्माण ग्रामीण उद्यान बाल विकास सहकारिता आदि कई विभागों में चर्चा की गई। सदन में अक्सर देखा गया क्षेत्र पंचायतों द्वारा मात्र अपने गांव की समस्याओं तक ही सीमित रहें।

बैठक में मसूरी वन प्रभाग डीएफओ कहकशां नसीम, जिला परियोजना निदेशक प्रकाश रावत, जिला विकास अधिकारी सुनील कुमार, कृषि अधिकारी अभिलाषा भट्ट, खंड शिक्षा अधिकारी एसके सहगल, लोक निर्माण विभाग रजनीश कुमार, खंड विकास अधिकारी शकुंतला शाह, जिला पंचायत उपाध्यक्ष भोला सिंह परमार के ज्येष्ठ उपप्रमुख सरदार सिंह कनिष्ठ उपप्रमुख समीर पंवार आदि लोग मौजूद रहे।

 

यह भी पढें: Maharashtra Politics : महाराष्ट्र में शह-मात जारी: सरकार और शिवसेना बचाने के लिए उद्धव का मंथन, शिंदे के समर्थन पत्र पर भाजपा एक्टिव  

 

यह भी पढें: इमरजेंसी (Emergency) के 47 साल : 21 महीनों तक नागरिकों की आजादी कैद में रही, खत्म कर दिए गए थे मौलिक अधिकार

 

यह भी पढें: शिक्षा विभाग (Transfer) : सहायक अध्यापकों (एल.टी.) के स्थानांतरण, देखें सूची

 

यह भी पढें: ब्रेकिंग : आपदा प्रबंधन (Disaster Management) में मीडिया की भूमिका पर बोले विशेषज्ञ : मीडिया के माध्यम से जनता के बीच न जाएं प्रतिकूल परिस्थितियां पैदा करने वाली सूचनाएं

Next Post

दांतों का साथी : आज दुनिया को मिली थी 'टूथब्रश' (tooth brush) की सौगात, 524 साल पहले इस देश से हुई शुरुआत

शंभू नाथ गौतम आज 26 जून, दिन संडे है। छह दिनों से जारी महाराष्ट्र संकट पर मुंबई से लेकर राजधानी दिल्ली तक सियासी माहौल गरमाया हुआ है। देश में राजनीति का उतार-चढ़ाव चलता रहता है। आज महाराष्ट्र, कल कोई दूसरा […]
IMG 20220626 WA0001