एक्सक्लूसिव : जब हिंदू रीति-रिवाजों से प्रभावित होकर लक्खीबाग श्मशान घाट में अंतिम संस्कार कराने पहुंचे तिब्बती समुदाय के लोग

admin
1637938641645

देहरादून/मुख्यधारा

यह जानकर आपको शायद हैरानी होगी कि तिब्बती समुदाय के लोग भी हिन्दू रीति-रिवाजों से प्रभावित हो रहे हैं, किंतु यह सच है। गत दिवस देहरादून स्थित लक्खीबाग श्मशान घाट में ऐसा ही एक मामला देखने में आया है। हुआ यूं कि गत दिवस 25 नवंबर 2021 को एक व्यक्ति के अंतिम संस्कार में लोग लक्खीबाग स्थित श्मशान घाट में गए हुए थे।

वहां उन्होंने पाया तिब्बती समुदाय के लोग भी अपने एक परिजन के अंतिम संस्कार में लक्खीबाग पहुंचे हुए हैं। यही नहीं वे अपने धार्मिक रीति-रिवाज की प्रक्रिया भी संपन्न करवा रहे थे। वहां मौजूद एक संवाददाता ने जब तिब्बती समुदाय के एक व्यक्ति से इस बारे में पूछा गया तो कि उनका कहना था कि वे लोग सहस्त्रधारा रोड स्थित तिब्बती कालोनी से आए हुए हैं। उस व्यक्ति ने बताया कि उनका 90 वर्षीय एक बुजुर्ग परिजन की मौत हो गई है।

हम लोग चूंकि हिंदू रीति-रिवाजों से बहुत प्रभावित हैं, ऐसे में उनके अंतिम संस्कार रीति-रिवाज के साथ संपन्न करवाना चाहते हैं। अभी हमारे गुरूजी भी आने वाले हैं, उसके बाद पूजा-पाठ व विधि-विधान के साथ अंतिम संस्कार की प्रक्रिया संपन्न कराई जाएगी। उपरोक्त वीडियो में आपने देखा होगा कि किस तरह से पूर्ण श्रद्धा के साथ तिब्बती समुदाय के लोग लक्खीबाग स्थित श्मशान घाट में अंतिम संस्कार करवा रहे हैं।

 

यह पढ़े : Big breaking: बेरोजगारों के लिए खुशखबरी। उत्तराखंड लोक सेवा आयोग ने निकाली इन पदों पर भर्ती। लास्ट डेट 17 दिसंबर

 

यह पढ़े : Big Breaking : वन विभाग में IFS अधिकारियों के बंपर तबादले। विनोद कुमार बने प्रमुख वन संरक्षक(HoFF )

Next Post

ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी में नये कुलपति बने जे कुमार, जसोला होंगे डीम्ड में डीजी

देहरादून/मुख्यधारा  पंतनगर विश्वविद्यालय के कुलपति रहे डॉ जे. कुमार ने ग्राफिक एरा हिल यूनिवर्सिटी के कुलपति के रूप में कार्यभार ग्रहण कर लिया। लगातार तीन बार इस विश्वविद्यालय के कुलपति रहे डॉ संजय जसोला ने उन्हें यह कार्यभार सौंपा। डॉ. […]
gra 1