बड़ी खबर : राज्य सरकार शहीदों के परिजनों को देगी नौकरी : जोशी

admin
ganesh joshi 4
  • जौलीग्रांट हवाई अड्डे पहुंचकर शहीदों के पार्थिव शरीर को मंत्री गणेश जोशी ने दी श्रृद्धांजलि

देहरादून/मुख्यधारा

कैबिनेट मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि सैन्य धाम उत्तराखंड से अनेकों वीर सपूतों ने देश के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है। पिछले 2 दिनों में ही उत्तराखंड के चार जांबाज़ ने देश के खातिर शहादत दी है। यह खबर उत्तराखंड के लिए अच्छी नहीं है, लेकिन प्रदेशवासियों को अपने वीर जवानों पर गर्व है कि उन्होंने अंतिम सांस तक देश रक्षा की।

राज्य के सैनिक कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने कहा कि उत्तराखण्ड वीरों की धरती है, राज्य के वीर सपूत अपनी जान देकर कर भी भारत माता की रक्षा के अपने प्रण को निभाहते हैं। हमारी सरकार वीर सपूतों की अमर शहादत को नमन करती है। शहीदों के परिवारजन हमारी जिम्मेदारी हैं। हालांकि परिवारजनों की इस क्षति को पूरा नहीं किया जा सकता, परंतु राज्य सरकार शहीदों के परिवार से एक व्यक्ति को सरकारी नौकरी सहित हरसम्भव सहायता के लिए प्राथमिकता से कार्य कर रही है।

मंत्री गणेश जोशी ने गत दिवस जौलीग्रांट एयरपोर्ट पहुंचकर शहीदों के पार्थिव शरीर पर श्रद्धांजलि अर्पित की थी।

जम्मू-कश्मीर में पुंछ जिले के मेंढर सेक्टर में आतंकियों की तलाश में चलाए गए सर्च ऑपरेशन के दौरान हुई मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो सपूत राइफलमैन विक्रम सिंह और राइफलमैन योगंबर सिंह शहीद हो गए थे। दोनों वीर शहीदों के पार्थिव शरीर को विशेष विमान से जौलीग्रांट लाया गया, जहां से उनके पैत्तृक गांव पहुंचाया गया।

ganesh 2

प्रदेश के सैन्य कल्याण मंत्री गणेश जोशी ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में आतंकवादियों से हुई मुठभेड़ में उत्तराखंड के दो जवान शहीद हो गए थे। इनमें टिहरी निवासी राइफलमैन विक्रम सिंह और चमोली के सांकरी गांव निवासी राइफलमैन योगंबर सिंह शामिल हैं। अमर शहीदों ने देश सेवा के लिए अपने प्राणों का सर्वोच्च बलिदान दिया है, जिसको कभी भुलाया नहीं जा सकता है।

यह भी पढ़ें : Breaking : उत्तराखंड में आज से भारी बारिश व हिमपात का अलर्ट

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

श्रीमहंत देवेन्द्र दास महाराज की अगुवाई में दी पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन की भ्रमणशील जमात को भावपूर्णं विदाई

पंचायती अखाड़ा बड़ा उदासीन की भ्रमणशील जमात चातुर्मास (चैमासा) प्रवास पूरा कर दरबार साहिब से लौटी पुष्पवर्षा के साथ आचार्य चंद्र  भगवान व  गुरु राम राय जी महाराज के जयकारे गूंजे सनातन परंपरा के अनुसार कुंभ आयोजन के बाद पंचायती […]
00