मौसम विभाग की चेतावनी : भारी बारिश के बाद चमोली स्थित फूलों की घाटी सैलानियों के लिए तीन दिन रहेगी बंद (Valley of Flowers)

admin
IMG 20220915 WA0039

मौसम विभाग ने जारी की चेतावनी : भारी बारिश के बाद चमोली स्थित फूलों की घाटी सैलानियों के लिए तीन दिन रहेगी बंद

चमोली/मुख्यधारा

उत्तराखंड में राजधानी देहरादून से पहाड़ों तक 2 दिनों से लगातार बारिश हो रही है। बारिश को देखते हुए मौसम विभाग ने राज्य में भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

मौसम खराब होने की वजह से विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी (Valley of Flowers) को प्रशासन ने सैलानियों के लिए 3 दिनों तक बंद कर दिया गया है। 17 सितंबर तक फूलों की घाटी बंद रहेगी।

मौसम विभाग की चेतावनी के अनुसार, कुमाऊं मंडल के सीमांत जनपद और गढ़वाल मंडल के रुद्रप्रयाग में स्कूलों में दो दिन का अवकाश घोषित किया गया है।

दो दिन उत्‍तराखंड में भारी बारिश को लेकर आरेंज अलर्ट, जबकि शनिवार के लिए रेड अलर्ट जारी किया है। बता दें कि हर साल उत्तराखंड के चमोली स्थित विश्व प्रसिद्ध फूलों की घाटी को देखने के लिए देश-विदेश से हजारों की संख्या में पर्यटक आते हैं।

IMG 20220915 WA0038

इस साल रिकॉर्ड तोड़ पर्यटक फूलों की घाटी में मनमोहक फूलों का दीदार कर चुके हैं। रिपोर्ट के मुताबिक अब तक 19852 पर्यटक फूलों की घाटी की सैर कर चुके हैं। बता दें कि घाटी में पांच सौ से अधिक प्रजातियों के फूल अलग-अलग समय पर खिलते हैं।

जुलाई के पहले हफ्ते से अक्टूबर तीसरे हफ्ते तक कई फूल खिले रहते हैं। यहां पोटोटिला, प्रिम्यूला, एनीमोन, एरिसीमा, एमोनाइटम, ब्लू पॉपी, मार्स मेरी गोल्ड, ब्रह्म कमल, फैन कमल जैसे कई फूल खिले रहते हैं।

घाटी में दुर्लभ प्रजाति के जीव जंतु, वनस्पति व जड़ी बूटियों का भंडार है। विभिन्न प्रकार के फूल होने पर यहां तितलियों का भी संसार रहता है।

उत्तराखंड के चमोली जिले में स्थित विश्व धरोहर फूलों की घाटी नंदा देवी नेशनल पार्क के अंतर्गत आती है। इसकी प्राकृतिक खूबसूरती और जैविक विविधता के कारण वर्ष 2005 में यूनेस्को ने इसे विश्व धरोहर घोषित किया था। 87.5 वर्ग किमी में फैली फूलों की घाटी न सिर्फ भारत बल्कि विदेशी पर्यटकों को भी अपनी ओर आकर्षित करती है।

IMG 20220915 WA0040

बता दें कि फूलों की घाटी जाने के लिए कोई सीधी फ्लाइट कनेक्टिविटी नहीं है। देहरादून में जॉली ग्रांट हवाई अड्डा निकटतम कमर्शियल हवाई अड्डा है। आप हवाई अड्डे से एक कैब किराए पर ले सकते हैं जो आपको गोविंदघाट तक ले जाएगी। लेकिन सड़कें केवल गोविंद घाट तक ही जुड़ी हुई हैं, जहां से आपको फूलों की घाटी तक पहुंचने के लिए 16 किमी का ट्रैक शुरू करना होगा।

यह जॉलीग्रांट हवाई अड्डे से 292 किमी की दूरी पर स्थित है और दैनिक उड़ानों के साथ दिल्ली से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। गोविंदघाट जॉली ग्रांट हवाई अड्डे के साथ गाड़ी चलाने योग्य सड़कों से अच्छी तरह से जुड़ा हुआ है। जॉलीग्रांट एयरपोर्ट से गोविंदघाट के लिए टैक्सी आसानी से उपलब्ध है।

 

यह भी पढें : अच्छी खबर : देहरादून के इस होमगार्ड जवान के ट्रैफिक संचालन देख हर कोई हो रहा मुरीद। डीजीपी अशोक कुमार ने की प्रशंसा, देखें वीडियो

 

यह भी पढें : …अब बिगड़ैल हाथी को थोड़ी पता कि ‘वीआईपी फ्लीट’ आ रही है…!, वह तो ‘गजराज’ ठहरा बल…! देखें वीडियो #Trivendra Rawat

 

यह भी पढें : एक नजर: चम्पावत की घटना पर जागे शिक्षा मंत्री धनसिंह रावत (Dhan Singh Rawat), बोले : जर्जर विद्यालयी भवनों का होगा ध्वस्तीकरण

 

यह भी पढें : बड़ी खबर: मंत्री गणेश जोशी ने उद्यान निदेशक एचएस बावेजा HS Baweja के खिलाफ की गई शिकायतों की जांच को कृषि सचिव को किया जांच अधिकारी नामित

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Next Post

Uttarakhand : संकल्प को सिद्धि तक ले जाने का काम कर रही है उत्तराखंड सरकार: CM Dhami

पोखरी में आयोजित सात दिवसीय 16वां हिमवंत कवि चन्द्रकुंवर बर्त्वाल खादी ग्रामोद्योग एवं पर्यटन शरदोत्सव मेले का CM पुष्कर धामी ने किया उद्घाटन चमोली/मुख्यधारा मुख्यमंत्री Uttarakhand पुष्कर सिंह धामी ने गुरूवार को पोखरी में आयोजित सात दिवसीय 16वां हिमवंत कवि चन्द्रकुंवर बर्त्वाल […]
IMG 20220915 WA0044